Wednesday, March 20, 2013

रोते-रोते हँसना सीखो

रोते-रोते हँसना सीखो,
हँसते-हँसते ...रोना ...
रोते-रोते हँसना सीखो,
हँसते-हँसते ...रोना ...
जितनी चाबी भरी राम ने,
उतना चले ...खिलौना
रोते-रोते हँसना सीखो,
हँसते-हँसते ...रोना ...
जितनी चाबी भरी राम ने,
अरे, उतना चले ...खिलौना
रोते-रोते हँसना सीखो,
हँसते-हँसते ...रोना ...

हम दो, एक हमारी प्यारी-प्यारी मुनिया है
बस यही छोटी सी, अपनी सारी दुनिया ...है 
हम दो, एक हमारी प्यारी-प्यारी मुनिया है
बस यही छोटी सी, अपनी सारी दुनिया ...है 
खुशियों से आबाद है,
अपने घर का कोना-कोना
रोते-रोते हँसना सीखो,
हँसते-हँसते ...रोना ...
जितनी चाबी भरी राम ने,
अरे, उतना चले ...खिलौना
रोते-रोते हँसना सीखो,
हँसते-हँसते ...रोना ...

बड़ी-बड़ी खुशियाँ है छोटी-छोटी बातों में,
बड़ी-बड़ी खुशियाँ है छोटी-छोटी बातों में,
नन्हे-मुन्ने तारे जैसे लम्बी रातों में,
बड़ी-बड़ी खुशियाँ है छोटी-छोटी बातों में,
ऐसा सुंदर है ये जीवन,
जैसे कोई सपन-सलोना
रोते-रोते हँसना सीखो,
हँसते-हँसते ...रोना ...
जितनी चाबी भरी राम ने,
अरे, उतना चले ...खिलौना
रोते-रोते हँसना सीखो,
हँसते-हँसते ...रोना ...
______________
 _बाबूजी!